ज्ञान गंगा की अमोघ चुस्की

मौत को दावत देने वाले कोरोना के इस स्टेज को जानते हैं आप ?

कोरोना वायरस ने दुनियाभर को हिलाकर रख दिया है. कोई नहीं जानता कि यह महामारी कब खत्‍म होगी. फिलहाल स्थिति बेहद खराब है.
इस संक्रमण को अलग-अलग चरण में बांटा गया है. राहत की बात है कि यह महामारी भारत में अभी भी अपने दूसरे चरण में है. यहां, हम आपको इन्‍हीं चरणों के बारे में बता रहे हैं.

पहली स्‍टेज क्‍या होती है?…

पहली स्‍टेज उसे कहते हैं जब प्रभावित देशों से आने वाले लोगों में संक्रमण पाया जाता है. इस तरह संक्रमण उन्‍हीं तक सीमित होता है जो दूसरे देशों से आए हैं. संक्रमण के रोकथाम के लिए यह सबसे मुफीद चरण हाेता है.

दूसरे चरण का क्या मतलब है?..

अभी देश में कोरोना वायरस दूसरे चरण में है. इसे लोकल ट्रांसमिशन स्‍टेज कहते हैं. यह तब आती है जब विदेश से लौटे संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने से उसके परिजन, रिश्तेदार वगैरह संक्रमित होने लगते हैं. इस चरण में यह पता होता है कि वायरस कहां से फैल रहा है. इस स्टेज में भी राेकथाम का काम उतना ज्यादा कठिन नहीं हाेता है क्याेंकि संक्रमण के स्राेत की जानकारी आपके पास हाेती है.

तीसरा चरण क्या है?..

इसके तीसरे चरण काे कम्‍युनिटी ट्रांसमिशन स्‍टेज कहा जाता है. इटली और स्पेन जैसे देशों में यह इसी स्टेज में है. यह स्टेज तब आती है जब एक बड़े इलाके के लोग वायरस से संक्रमित हो जाते हैं. इस चरण में कोई ऐसा व्यक्ति भी संक्रमित हो सकता है जो न तो कोरोना वायरस से प्रभावित देश से लौटा है और न ही वह किसी दूसरे कोरोना वायरस संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आया हो. इस स्टेज में यह पता नहीं चलता कि कोई व्यक्ति कहां से संक्रमित हो रहा है.

चाैथा चरण क्या है?…

इस महामारी का यह अंतिम पड़ाव है. यह काफी खतरनाक स्टेज है. चीन इस स्टेज से गुजर चुका है. ऐसी स्थिति में इसका हल खोज पाना कठिन होता है.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *