ज्ञान गंगा की अमोघ चुस्की

5G से corona पर WHO का बड़ा दावा..

 

 

क्या 5g से corona  फैल रहा है ? क्या आजकल आपकी नाक मे ज्यादा पपड़ी जमने लगी है ?, क्या आजकल आपको भी अचानक करंट लग जा रहे है , क्या सच में 5g रेडिएशन की वजह से लगातार पक्षियों विलुप्त हो रही है ? क्या 5g से मनुष्य को भी ख़तरा बढ़ा है !!

हमबोलेंगे तो कहोगे कि बोलता है पर हम आज बोलेंगे और वही बोलेंगे जो आपको सच समझा दे..

5g से corona को जोड़ने से पहले आपको 5g  रेडिएशन की कुछ अनोखी बातें समझा देते हैं, दरअसल 5g संचार माध्यम के 2g, 3g, 4g की अगली पीढ़ी है, 5g के आने से नेटवर्किंग की स्पीड बढ़ेगी ।।

कोरोना महामारी को लेकर फैलाई जा रही इन खबरों पर विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की रिपोर्ट में जवाब दिया गया है. WHO की रिपोर्ट में ऐसे सभी दावों को फर्जी बताया गया है. इस रिपोर्ट में बताया गया है कि 5G मोबाइल नेटवर्क से कोरोना नहीं फैलता. साथ ही यह भी बताया गया है कि कोरोना मोबाइल नेटवर्क और रेडियो तरंगों के साथ एक जगह से दूसरी जगह पर नहीं पहुंच सकता. रिपोर्ट के अनुसार, कोरोना उन देशों में भी हो रहा है जहां 5जी मोबाइल नेटवर्क नहीं है.

 

पिछले कुछ समय से सोशल मीडिया पर ऐसे संदेशों की भरमार है, जिनमें कोरोना के लिए 5G तकनीक की टेस्टिंग को जिम्मेदार बताया गया है.

 

इन संदेशों में कहा जा रहा है कि 5G टावरों की टेस्टिंग से निकलने वाला रेडिएशन हवा को जहरीला बना रहा है, इसलिए लोगों को सांस लेने में मुश्किल आ रही है. वायरल मैसेज में सरकार से टेस्टिंग पर तुरंत रोक लगाने की मांग भी की गई है.

वायरल पोस्ट में यह भी कहा गया है कि रेडिएशन की वजह से घर में हर जगह करंट लगता रहता है और गला सामान्य से कुछ ज्यादा सूखता है. इन पोस्ट में कहा गया है कि यदि इन 5G टावरों की टेस्टिंग पर रोक लगा दी जाए, तो सब ठीक हो जाएगा. इन संदेशों को शेयर करने वाले कुछ लोगों ने अपने साथ ऐसा होने का दावा भी किया है.

असल तो यही है कि 5G से corona नहीं फैलता, इसलिए अफवाह पर ध्यान बिल्कुल भी ना दें ।।

दिव्यांश यादव.

 

 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

One thought on “5G से corona पर WHO का बड़ा दावा..”