ज्ञान गंगा की अमोघ चुस्की

पाकिस्तान का वह लोकप्रिय कप्तान जो आज अपने देश का नया निजाम बन कर उभरा है

पाकिस्तान का वह लोकप्रिय कप्तान जो आज अपने देश का नया निजाम बन कर उभरा है

“नया निजाम नई बंदिशें ऐलान नया
हम फकत लश्कर –ए–शाही के ही माफिक सोचें
कि साहिब–ए–वक्त ने ऐलान किया है जारी
अपनी नस्लो से कह दो
कि अब हमारी मुताबिक सोचे”

imran-khan-featured gyanchuski

क्या खूब कहा है किसी ने इस शेर के माध्यम से
यह नया निजाम कोई और नहीं बल्कि हमारे पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान की सियासत के नए सिपाहसालार इमरान खान है।

क्रिकेट के कप्तान से पूरे देश का कप्तान बनने तक का सफर
क्रिकेट की फील्ड से उठकर सियासत के गलियारों तक का सफर इमरान के लिए आसान नहीं रहा,
सन् 1996 में Imran Khan ने अपनी पार्टी Tehreek-e-Insaf की नींव भी रखी है उसे समय-समय पे पक्का भी किया, यह उनकी मेहनत और कड़ी लगन का ही नतीजा है कि पाकिस्तान की अवाम ने उन्हे अपना नया कप्तान चुन लिया है।
हम आपको बता दें कि इमरान खान (Imran Khan)को कप्तान के नाम से भी जाना जाता है, यह उनका Nickname भी है।imran-khan-gyanchuski

पूर्व पत्नी ने ऐसे किया जीत की खुशी का इज़हार

Jemima Goldsmith जो कि उनकी पूर्व पत्नी थी, उनका एक tweet Imran Khan के मेहनत और लगन की पूरी कहानी खुद ब खुद बयां कर रहा है,आप खुद ही पढ़ लीजिए ये ट्वीट

22 years later, after humiliations, hurdles and sacrifices, my sons’ father is Pakistan’s next PM. It’s an incredible lesson in tenacity, belief & refusal to accept defeat. The challenge now is to remember why he entered politics in the 1st place. Congratulations @ImranKhanPTI”

मुखातिब भी करीब भी

उनका संबोधन भी ऐसा- My son’s father is Pakistan’s next PM
संबोधन की सुंदरता भी इतनी प्यारी कि उसे देख कर फिराक का एक शेर जो कि उन्होंने नेहरू जी के संबोधन में कहा था,अनायास ही जुबां पर आ रहा है

तुम मुखातिब भी हो
करीब भी
तुमको देखे
कि तुमसे बातें करें

jemima-goldsmith-gyanchuski
Source: Google Images

Jemima Goldsmith आज भले ही उनसे दूर हैं लेकिन उनकी खुशी आज देखते ही बन रही है, क्रिकेट की फील्ड में जो ऑलराउंडर की भूमिका Imran Khan ने निभाई है, ठीक वैसा ही कुछ उन्हें सियासत की गलियारों में भी करना होगा,

भारतपाक मसले पर उनकी राय

भारत-पाक मसले में भी उन्होंने खुलकर बात की उन्होंने यहां तक कहा कि भारत पाक के रिश्ते में जो खटास है, उसे जल्द से जल्द बातचीत के जरिए निपटाया जाएगा, भारत अगर शांति और संयम के लिए अपना एक कदम आगे बढ़ाता है तो वें दो कदम बढ़ा कर वे भारत के इस कदम का स्वागत करेंगे।इमरान खान को इस नयी सियासी पारी के लिए ढेर सारी शुभकामनाएं।

 

Leave a comment

Your email address will not be published.