Greatest Urdu Shayar of India

1 post

फिराक की अनोखी शायरी ने हीं उन्हें महान बना दिया। उनकी फितरत, उनके रंजो गम की बातें और उनकी बेबाकी से लिखे गए ना जाने कितने शेर। आज भी लोगों के दिलों में जिंदा है। मरने के नाम पर कहते थे कि मैं मरूंगा नहीं सूरज सा अस्त हो जाऊंगा, उनकी इसी अनोखी अदा के कारण उन्हें उर्दू साहित्य का अग्रणी स्तंभ कहा जाता है।