Untold Story of Firaaq Gorakhpuri

1 post

उर्दू साहित्य में मीर और ग़ालिब के बाद अगर कोई शायर है तो वह फिराक है, अपनी शायरी के तीर से न जाने कितनों को घायल कर देने वाले उर्दू के महान शायर फिराक गोरखपुरी ने ताउम्र उर्दू साहित्य की जो सेवा की है वह अविश्वसनीय है। यूं भी कह सकते हैं कि वह एक मिजाजी शायर थे, जो मन में आता उसे शायरी के रंग में रंग देने की कला उनमें कुटकुट के भरी थी।