ज्ञान गंगा की अमोघ चुस्की

Why Did Modiji Choose Cow as Gift to Rwanda in Hindi

Why Did Modiji Choose Cow as Gift in Rwanda in Hindi

आखिर मोदी जी ने Rwanda के लिए उपहार में गाय को ही क्यों चुना?

मेरी गाय भोलीभाली Rwanda में क्यों है इससे खुशहाली, बात तो है यह जानने वाली, तो फिर जान ही लो!

गाय एक ऐसा नाम जो हमारे देश में आस्था का प्रतीक है, जिस की उपस्थिति हमारी लोक कथाओं में भी व्याप्त है,

 गौधन गजधन बाजिधन
रतनधन धूरि समाए
जब आए संतोष धन
सब धन धूरि समाय

Modi-Rwanda-Cow-Gift Gyanchuskiउपरोक्त शब्दों से यह सिद्ध होता है कि गाय पशु होने के साथ-साथ धन,यश,वैभव का भी प्रतीक है,
लेकिन वर्तमान समय में यह राजनीतिक विषय बन गया है, जहां देखिए यह चर्चा आम से खास होती जा रही है,
इसी कहानी को अगर 90 degree घूमा दिया जाए तो एक नई कहानी चर्चाओं में है,जी हां इस कहानी में गाय तो है पर विषय जो है वह हम सभी के लिए जानने योग्य है,
भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी Rwanda के दौरे पर गए,

Rwanda के दौरे पर जाने वाले वे भारत के प्रथम प्रधानमंत्री हैं.

Modi-Rwanda-Visit Gyanchuski
Source: Google Images

GIRINKA PROGRAMME है क्या?
Rwanda सरकार ने एक महत्वाकांक्षी योजना चला रखा है, ‘GIRINKA PROGRAMME’ जिसका उद्देश्य देश मे बढतेे कुपोषण दर को कम करना तथा प्रति व्यक्ति आय को बढ़ाना भी है,

सरकार ने प्रोग्राम तो सेट कर दिया था लेकिन उसके लिए करना क्या होगा? हां वही जो वर्गीज कुरियन(Vergeshe Kurien) ने भारत में करवाया था- दूध की खपत,और दूध के लिए तो गाय चाहिए, इसलिए Rwanda की सरकार ने गरीब किसानों को Girinka Programme के तहत गाय के मादा बच्चे यानी बछिया(heifer) देने की योजना बनाई।इसकी शुरुआत सन 2006 में Rwanda के राष्ट्रपति Paul Kagame के द्वारा की गई।

GIRINKA PROGRAMME के तहत गाय ही क्यों?

गाय की महत्ता Rwanda में प्राचीन समय से चली आ रही है, जहां तक उपहारों की बात की जाए Rwanda में गाय एक बेशकीमती उपहार है, यहां तक कि दहेज़(Dowry) में भी गाय देने की प्रचलन प्राचीन समय से चला आ रहा है।

भारत सरकार ने इसी GIRINKA PROGRAMME के तहत वहां 200 गाय उपहार स्वरूप प्रदान किया, यह दोनों देशों के रिश्तों में मील का पत्थर साबित होगा।

Modi_Cow_Rwanda Gyanchuski
Source: Google Images

GIRINKA PROGRAMME काम कैसे करता है?
इस प्रोग्राम के तहत गरीब किसानों को एक गाय मुहैया कराई जाती है, उसी गाय का पहला मादा बछड़ा(female Calf or heifer) उपहार स्वरूप या यूं कह दे कि इस प्रोग्राम को सफल बनाने के लिए पड़ोसी को दी जाती हैं, यह प्रक्रिया ऐसे ही सतत बढ़ती रहती है, इसके लिए गांव में ही एक समिति बनाई गई है, जो इनका गायों के लिये दाना पानी दवा आदि सभी चीजों का प्रबंध करती है।
साल 2020 तक Rwanda की सरकार ने GIRINKA PROGRAMME के तहत 3,50,000 गरीब परिवारों को लाभांवित करने का लक्ष्य निर्धारित किया है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *